सेवा संबन्धित सामान्य प्रश्न उत्तर भाग 3

Faq
प्रश्न 1- Individual Salary process का क्या उपयोग है ? 
उत्तर- यदि किसी माह किसी कार्मिक का वेतन छोड़कर बिल बनाते है और जब बाद में छोड़े गए कार्मिक का वेतन बनाया जाता है उस वक्त कार्मिक की सैलरी इस विकल्प में जाकर प्रोसेस की जाएगी।

प्रश्न 2- DA Preparation कब काम में आता है ?
उत्तर- DA arrear में DA तैयार करते है और यदि कोई संशोधन करना हो तो DA Arrear Updation में जाकर amount को अपडेट करना पड़ता है।

 प्रश्न 3- Leave encashment Preparation में किस बात का विशेष ध्यान रखते है ?
उत्तर- इसमें बिल बनाने से पहले कार्मिक के Employee detail के status में जाकर चेंज करे वरना बिल नही बनेगा।
रिटायर्ड कार्मिक का पे स्टॉप नही करे इसके बजाय स्टेटस में परिवर्तन कर दे अन्यथा बिल नही बनेगा।

 प्रश्न 4- पेमेनेजर पर Salary Arrear सम्बंधित..
उत्तर- सैलरी एरियर अंतर तालिका बनाकर manually amount भरे जाने पर तैयार करते है और इसमें कोई फॉर्मूला काम नही करता।

 प्रश्न 5- वाहन किराया, छात्र वृत्ति और पेंशन के लिए Object code क्या है ?
उत्तर- वाहन किराया के लिए budget object code  36, छात्र वृत्ति के लिए 13 और पेंशन के लिए 84 है।

प्रश्न 6- मुझे जुलाई माह में सभी कार्मिकों के एक साथ increment लगाना है। मुझे क्या करना होगा ?
उत्तर- आपको जुलाई माह में कार्यालय के सभी कार्मिकों का एक साथ इन्क्रीमेंट लगाना है तो आपको increment basic का प्रयोग करना होगा। बहुत ही सरल function है आसानी से काम में लिया जा सकता है।

 प्रश्न 7- Employee dates क्या है ?
उत्तर- कर्मचारी की नियुक्ति तिथि से लेकर वेतन वृद्धि तक की सात प्रकार की तिथियां भरनी होती है जो आवश्यक रूप से भरना अनिवार्य होता है। जब कभी बोनस का बिल बनाने में कोई दिक्कत आ रही हो तो इसका मुख्य कारण इन सात तिथियों का अपूर्ण होना है। सभी डेट्स जरूर भरे।

प्रश्न 8- Dual Bill Process का क्या उपयोग है ?
उत्तर- जब कभी दोहरा कार्य भत्ता के बिल बनते है तो इस function में जाकर process होंगे इसमें दरों का इंद्राज भी होता है।

प्रश्न 9- View bill status क्या है ?
उत्तर- बिल को ट्रेजरी फारवर्ड करके जब बिल कोष लय भेज दिए जाते है उसके बाद बिल की वास्तविक स्थिति की जानकारी इस फंक्शन से की जाती है।
बिल टोकन हुआ या नही। बिल पास हुआ या नही। इसकी पूर्ण जानकारी मिल जाती है।

प्रश्न 10 – पेमेनेजर में सबसे महत्वपूर्ण क्या है जिससे बिल बनाने में सुविधा हो ?
उत्तर- कार्मिक के master option में employee detail के समस्त कॉलम की पूर्ति करे तो बिल बनाने में कभी भी दिक्कत नही आएगी। अगर आपने इसे अपूर्ण रख दिया तो यह आपके लिए दुविधा बन जाएगी।

प्रश्न 11- किसी कार्मिक का पूर्व में पेमेनेजर पर master बना या नही। कैसे चेक करूँ ?
उत्तर- आपको कार्मिक की पूर्व बनी आई डी चेक करने के लिए Reports> DDO reports> Employee Related reports> Employee ID wise detail में जाना होगा।

प्रश्न 12- DDO information भरने का क्या उपयोग है ?
उत्तर- जब DDO द्वारा पेमेनेजर ओपन किया जाता है तो ddo information भरने का विकल्प आता है जिसमें ddo से सम्बंधित सूचना भरनी होती है।
इससे कोष लय में बिल टोकन एवं रिवर्ट होने पर ddo को तुरन्त जानकारी मिल जाती है।



प्रश्न 13- मेरी दोहरी पेमेनेजर आई डी बन गई है। अब क्या समाधान है ?
उत्तर- यदि एक से अधिक master बन गए है तो नए master को पुराने master में मर्ज करने के लिए DDO द्वारा ट्रेजरी को पत्र लिखा जाएगा जिसमें उस कर्मचारी के दोनों Employee master का NICUID No. भी अनिवार्यतः लिखने होंगे।

प्रश्न 14- मेरा एक वेतन एरियर बिल आयकर नही काटने से ट्रेजरी से रिवर्ट हुआ है। क्या मुझे बिल डिलीट करके दूसरा बनाना होगा ?
उत्तर- नही दूसरा बनाने की जरूरत नही है। पहले बिल को ट्रेजरी रिवर्ट करे। उसके बाद बिल को ddo के माध्यम से अपने स्तर पर रिवर्ट करे ऐसा करने से उसका प्रोसेस हट जाएगा अब आप संशोधन करके बिल को DDO और ट्रेजरी फारवर्ड कर दे।

प्रश्न 15- FVC मास्टर कब बनाया जाता है ?
उत्तर- जब कार्यालय व्यय से FVC द्वारा Third party को भुगतान किया जाता है तो उसका FVC मास्टर तैयार करना पड़ता है जिसमें फर्म का नाम, बैंक खाता, बैंक ब्रांच, ISFC कोड, पेन नम्बर और मोबाइल नम्बर अनिवार्यतः फीड करने होते है।

You Might Also Like

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.